जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला की ये बातें सुनकर आप का खून भी खोल उठेगा

J&K former CM farukh abdullah

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला की ये बातें सुनकर आप का खून भी खोल उठेगा

 

श्रीनगर.फारूख अब्दुल्ला ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पर भारत के दावे को लेकर विवादित बयान दिया है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम ने पीओके पर भारतीय संसद के स्टैंडिंग रिजोल्यूशन पर कहा- ‘क्या ये तुम्हारे बाप का है, मौजूदा वक्त में ये पाकिस्तान के कब्जे में है।’ बाप-दादाओं की तरफ से मिली जायदाद नहीं पीओके…अब्दुल्ला स्टैंडिंग रिजोल्यूशन के बारें में क्या वाकई कुछ भी जानता  है???
पूर्व सीएम फारूख ने शुक्रवार को चिनाब घाटी में एक समारोह में यह बयान दिया।
उन्होंने कहा- ‘पीओके भारत की निजी संपत्ति नहीं है। इसलिए वह उस पर अपने बाप-दादाओं की तरफ से मिली जायदाद की तरह दावा नहीं कर सकता।’

समारोह में एक और पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला “जो की फारुख अब्दुल्ला के बेटे हैं” भी मौजूद थे।

Save $3,$6,$8 OFF on Order Over $50,$100,$150,Expires:Dec.31,2016@TOMTOP.com

कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान भी एक पक्ष है

फारूख अब्दुल्ला ने कहा- ‘कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान भी एक पक्ष है, इसे अब भारत सरकार ने भी मान लिया है।’
‘इस मसले पर संसद में एक रिजोल्यूशन आया था जिसमें पीओके को भारत का हिस्सा बताया गया है।’
‘भारत सरकार के पास अब पाकिस्तान से बातचीत शुरू करने के अलावा कोई और रास्ता नहीं है। क्योंकि जम्मू-कश्मीर के लोगों पर जारी अत्याचार को खत्म करने की जरूरत है।’
‘भारत सरकार के पास पीओके को पाकिस्तान से छीनने की हिम्मत नहीं है और न ही पाकिस्तान के पास कश्मीर को भारत से छीनने की हिम्मत है।’
‘लेकिन दोनों देशों के बीच फंस कर कश्मीर की मासूम जनता को दिक्कत उठानी पड़ रही है।’

नोटबंदी से जनता को दिक्कत, माफी मांगे मोदी

TopUp.com

नेशनल कॉन्फ्रेंस के लीडर फारूख अब्दुल्ला ने नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले की भी आलोचना की।
कहा- ‘मोदी ने नोट बदलवाने के लिए अपनी मां को भी लाइन में लगवा दिया। अच्छी औलाद अपनी मां को कष्ट से बचाने के लिए कोई भी कुर्बानी दे सकती है।’
‘मोदी को नोटबंदी के फैसले से जनता को हुई दिक्कतों के लिए माफी मांगनी चाहिए।’
फारूख ने यह भी कहा कि जिसकी शादी न हुई हो, वह यह नहीं समझ सकता कि ढाई लाख में बेटियों की शादी करना मुमकिन नहीं है।
देश की जनता के सारे हमदर्द नेता आजकल ऐसे ऐसे बोल बोले जा रहें हैं जिन्हें जनता सुनकर खुद अचंभित है
क्यों हमदर्दी का ढोल पिटे जा रहे है समझ ही नहीं आ रहा अब्दुल्लाह जैसे लोग क्या कहना चाहते हैं क्या वाकई ये बदजुबानी नहीं है.

क्या ये हमारे देश के किसी नेता के बयान हो सकते है? अब्दुल्लाह भारत के लिए बोल रहा है या पाकिस्तान के लिए !!!

TopUp.com

ये पाकिस्तानी प्रवक्ता है या भारतीय नेता ??

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *