हेलीकॉप्टर घोटाला : कांग्रेस नेता सीबीआई (CBI) के निशाने पर

congress leader chopper scam cbi

Chopper scam: Congress leader CBI on target

सूत्रों ने कहा कि इस जांच के तहत कांग्रेस की अगुवाई वाले तत्कालीन संयुक्त प्रगति शील गठबंधन (संप्रग) के सभी नेताओं को लाया जा सकता है

नई दिल्ली। करीब 3,767 करोड़ रुपए के वीवीआईपी (VVIP) हेलीकॉप्टर घोटाले की चल रही जांच में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) का ध्यान शीर्ष कांग्रेस नेताओं की भूमिका पर है। सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। सीबीआई सूत्रों ने बताया कि इन नेताओं में पूर्व प्राइम मिनिस्टर मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके करीबी अहमद पटेल के नाम शामिल हैं।

कांग्रेस के नेता एजेंसी के रडार पर पूर्व इंडियन वायुसेना प्रमुख एस.पी. त्यागी, उनके चचेरे भाई संजीव त्यागी और दिल्ली के वकील गौतम खेतान की अरेस्ट के बाद आए हैं। हालांकि त्यागी बंधु और खेतान अभी जमानत पर जेल से बाहर हैं। इस घोटाले में एजेंसी तत्कालीन रक्षामंत्री रहे प्रणब मुखर्जी की भूमिका को भी देख रही है।

सूत्रों ने कहा कि इस टेस्ट के तहत कांग्रेस की अगुवाई वाले तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के सभी नेताओं को लाया जा सकता है, जिन पर 12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टर समझौते को लास्ट रूप देने में जुड़े रहने का आरोप है। इस मामले में एजेंसी इतालवी अदालत के इतालवी बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के संज्ञान में लिए गए 2 नोटों के आधार पर कार्रवाई करेगी।

रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि मिलान अदालत के दस्तावेज इटालियन भाषा में हैं और उनका अनुवाद करना आसान नहीं है। उन्होंने कहा कि दस्तावेज अनुमान 1.21 लाख पन्नों का है। इनमें से 42 हजार अंग्रेजी तथा 57 हजार पन्ने हिंदी भाषा में है। बाकी पन्नों का अनुवाद करना आसान नहीं है। मुझे भी यही परेशानी पेश आ रही है।

संप्रग सरकार को फरवरी 2012 में ही घोटाले का पता चल गया था। लेकिन इसके बावजूद दिसंबर में 3 हेलीकॉप्टरों को मंगाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *