रतन टाटा के खिलाफ मानहानि का केस दायर किया.. जानिए पूरी खबर !

Ratan tata ke khilap manhani

Ratan tata ke khilaf manhani ka cass dayar kiya

टाटा मोटर्स के स्वतंत्र निदेशक पद से हटाए जाने के कुछ घंटों बाद मशहूर उद्योग पति नुस्ली एन.वाडिया ने शुक्रवार को टाटा संस,रतन टाटा तथा इसके निदेशकों के खिलाफ आपराधिक मान हानि का 1 मुकदमा दायर किया।

नुस्ली के वकील अबद पोंडा ने बालार्ड पायर की 36 वीं अदालत के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत के समक्ष मुकदमा दर्ज कराया।

टाटा मोटर्स के स्वतंत्र निदेशक पद से हटाए जाने के कुछ हॉर्स बाद मशहूर उद्योग पति नुस्ली एन.वाडिया ने शुक्रवार को टाटा संस 36 वीं अदालत के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत के समक्ष मुकदमा दर्ज कराया।

3000 करोड़ रुपये की मान हानि का मुकदमा

इस कदम के 1 week  पहले ही उन्होंने टाटा संस तथा अन्य के खिलाफ 3000 करोड़ की मान हानि का मुकदमा दर्ज कराया था।

आपराधिक मुकदमे में वाडिया ने आरोप लगाया है

कि सभी आरोपियों ने व्यक्तिगत तथा सामूहिक रूप से उनकी मान हानि के इरादे से गलत, ओछी, निराधार, अपमान जनक तथ्यों का प्रकाशन तथा वितरण किया,

जिससे सही सोचने वाले लोगों के बीच उनकी प्रतिष्ठा व प्रीति धूमिल हुई।

उन्होंने कहा कि टाटा समूह की 3 कंपनियों से उन्हें बाहर निकालने के लिए टाटा संस के लेटरहेड पर विशेष नोटिस भेजा गया,

जिस पर मुख्य संचालन अधिकारी (COO) तथा कंपनी सचिव एफ.एन. (FN) सुबेदार के हस्ताक्षर हैं

इसलिए मानहानि की सामग्री प्रकाशित करने तथा उसे फैलाने को लेकर आरोपियों के नामों को मान हानि के लिए जवाब देह ठहराया जा सकता है।

वाडिया ने अदालत से अनुरोध किया कि मुकदमे में जिन आरोपियों के नाम लिए गए हैं,

उनके द्वारा किए गए अपराध पर वह इंडिया दंड संहिता (IPC) की निश्चित धाराओं के तहत संज्ञान ले।

ratan tata ke khilap manhani ka cass dayar kiya, Ratan tata ke khilap manhani, 3000 crod rupay ki maan hani ka mukdama, ratan tata sans letarhad notice

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *