सिंगापुर के साथ डबल कराधान बचाव संधि संशोधित.. जानिए पूरी खबर !

Singapore revised double taxation treaty

Singapore revised double taxation treaty

भारत और सिंगापुर ने टुडे संशोधित दोहरा कराधान बचाव संधि पर हस्ताक्षर किये जिसके तहत सिंगापुर के Way आने वाले निवेश पर इंडियन में पूँजीगत प्रॉफिट पर कर लगेगा।

नई दिल्ली। इंडियन और सिंगापुर ने आज संशोधित दोहरा कराधान बचाव समझौता पर हस्ताक्षर किये जिसके तहत सिंगापुर के रास्ते आने वाले निवेश पर इंडियन में पूँजीगत प्रॉफिट पर कर लगेगा।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस संशोधित संधि पर हस्ताक्षर किये जाने के बाद संवाददाताओं से कहा कि देश का ब्लैक मनी सिंगापुर, मॉरिशस और साइप्रस के रास्ते आ रहा था और इन देशों के साथ पूर्व में किये गये दोहरा ब्लैक मनी बचाव संधि की वजह से उस निवेश पर होने वाले प्रॉफिट पर कर नहीं लगता था।

मोदी सरकार ने 1 वर्ष के भीतर इन 3 देशों के साथ दशकों पहले हुयी संधिओं को संशोधित कर देश के ब्लैक मनी को बाहर भेजकर फिर से निवेश के रूप में वापस लाने के खेल पर रोक लगाने का काम किया है।

उन्होंने कहा कि मॉरिशस के साथ समझौता को मई महीने में संशोधित किया गया था जबकि साइप्रस के साथ समझौता नवंबर में संशोधित हुयी है।

अब ङ्क्षसगापुर के साथ संधि संशोधित की गयी है।

मॉरिशस के साथ समझौता को वर्ष 1996 से संशोधित करने की कोशिश की जा रही थी।

उन्होंने कहा कि संशोधित समझौता के तहत 31 मार्च 2017 तक होने वाले निवेश पर पूँजीगत प्रॉफिट कर नहीं लगेगा।

उन्होंने कहा कि ब्लैक मनी के विरुद्ध जारी लड़ाई को आगे बढ़ाते हुये इस वर्ष नवंबर में स्विटजरलैंड के साथ सूचनाओं के आदान-प्रदान का करार किया गया है।

इसके तहत वर्ष 2018 में स्विटजरलैंड में किसी भी तरह से किये जाने पर निवेश या जमा के बारे में वर्ष 2019 से जानकारी मिलने लगेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *